Tue. Jul 7th, 2020

हिन्दी आजकल

एक नई पहचान

डेटिंग के ये 8 तरीके आपके डेटिंग (Dating) एक्पिरियेंस को और ज्यादा एडवेंचरस बनाएंगे

आज के नए दौर में डेटिंग करना आम बात है. और ये प्रचलन बढ़ता ही जा रहा है. इसका मकसद दो प्यार करने वाले लोगों का मिलन बताया जाता है. लेकिन कई बार इसका उल्टा भी हो जाता है. इसलिए डेट के साथ-साथ डेट को खूबसूरत और एंडवेंचरस बनाना महत्वपूर्ण है. कुछ सावधानियां बरत कर आप भी डेटिंग के नये अनुभव पा सकते हैं. डेटिंग के ये 9 तरीके आपके डेटिंग (Dating) एक्पिरियेंस को और ज्यादा एडवेंचरस बनाएंगे.

1. पसंद नापसंद का रखें ध्यानअपने पार्टनर की होबिज आदि का ध्यान रखें. जैसे उनकी क्या पसंद-नापसंद क्या है आदि. इसे ध्यान में रखते हुए अपनी तैयारी कीजिए.

2. अपना परिचय बताने में इमानदारी बरतें कहा जाता है कि झूठ के पाँव नहीं होते. झूठ ज़्यादा दिन नहीं चलते. इसलिए ज़रूरी है कि पहली ही डेट में आपके पार्टनर को पता चल जाना चाहिए कि आप किस तरह के व्यक्ति हैं. फिर वो आपको पसंद करे या नापसंद, उनकी मर्ज़ी.

3. तुलना करने से बचेंआम तौर पर हम एक व्यक्ति की दुसरे से तुलना करते ही हैं. लेकिन डेट पर होते समय ऐसा करने से बचें. क्योंकि ऐसा करने से कई बार सामने वाले को बेइज्जती महसूस करा देता है. क्या आपको अच्छा लगेगा अगर आपके व्यक्तित्व का मुक़ाबला किसी और के साथ किया जाए जिसे आप जानते तक नहीं हैं.

4. अपना माइंडसेट क्लियर रखेंआपको स्पष्ट होना चाहिए कि आप अपने पार्टनर में क्या चाहते हैं. ये शुरुआती कुच्छेक बातों से पता चल जाता है. यदि उसके अनुसार कुछ नहीं हो रहा है तो सीधे ना बोल दीजिए. बेकार में अपना और दूसरों का समय बर्बाद करने का कोई मतलब नहीं है.

5. वफादारी का कोई विकल्प नहीं हैये तो फैक्ट है कि वफादारी का कोई विकल्प नहीं है. यदि दोनों लोग केवल टाइमपास के लिए जा रहे हैं तब तो कोई बात नहीं. लेकिन मजबूत रिश्ते के लिए वफ़ादारी बहुत ही ज़रूरी है.

6. इज़्ज़त दीजिये, इज़्ज़त लीजियेयह बाद हमेशा याद रखनी पड़ेगी कि हम खुद के साथ जैसे व्यवहार की अपेक्षा करते हैं, हमें दूसरों के साथ वैसा ही व्यवहार करना भी पड़ेगा! इज़्ज़त दीजिये, इज़्ज़त लीजिये! हर वक़्त सिर्फ इसी में मत लगे रहिये कि आपका पर्त्ने रही आपको फ़ोन करे, आपको उपहार दे, आपका जन्मदिन याद रखे, आपके लिए दुनिया की हर ख़ुशी ढूँढ के लाये. आपको भी यह सब उनके लिए करना पड़ेगा क्योंकि दिल का रिश्ता तो बराबर का रिश्ता होता है.

7. पसंद नहीं आने पर ईमानदारी से मना कर देंज़रूरी नहीं की हर डेट इश्क़-मोहब्बत पर जाके ख़त्म हो. कई बार महीनों तक डेट पर जाने के बाद लगता है की आप दोनों एक दुसरे के लिए सही नहीं हैं. ऐसे में लड़-झगड़ के या मुँह खट्टा करके रिश्ता ख़त्म करने की ज़रुरत नहीं है.

8. ओवर एक्टिंग से बचेंकई बार आपकी बॉडी लैंग्वेज ही आपकी मन की बातों को बयान कर देती है ऐसे में आपको सहज रहना बहुत जरूरी है. न तो बहुत उत्साहित हो और न ही बहुत ज्यादा नर्वस